उसने कहा कि मैं 60 साल का अधिकारी हूं तू पांच साल का नेता मेरा कुछ नहीं कर सकता गाली-गलौज का ऑडियो वायरल होने के बाद बिजली विभाग ने जेइएन भागचंद मीणा को सस्पेंड कर दिया है।

GAURAV BAJPAI

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सलाहकार विधायक रामकेश को एक सहायक अभियंता (जेइएन) ने फोन पर जमकर गालियां दीं। उसने कहा कि मैं 60 साल का अधिकारी हूं, तू पांच साल का नेता मेरा कुछ नहीं कर सकता। गाली-गलौज का ऑडियो वायरल होने के बाद बिजली विभाग ने जेइएन भागचंद मीणा को सस्पेंड कर दिया है। इस दौरान उसका कार्यालय अधीक्षण अभियंता झालावाड़ रहेगा। उधर, भागचंद के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर कोतवाली थाने में शिकायत भी दी गई है।  

जानकारी के अनुसार छह मार्च को सीएम के सलाहकार रामकेश मीणा ने जीवली गांव में एक स्कूल के वार्षिकोत्सव में भाग लेने गए थे। इस दौरान उन्होंने जनसुनवाई कर लोगों की समस्याएं भी सुनीं थी। इस दौरान ग्रामीणों ने शिकायत कर कहा कि वजीरपुर जेइएन भागचंद मीणा अभद्रता करता है। ग्रामीणों ने उस पर कार्रवाई की मांग की तो विधायक ने कार्रवाई का भरोसा दिया था।

दो दिन से वायरल हो रहा ऑडियो
इसकी जानकारी भागचंद को लगी तो उसने सीएम सलाहकार को फोन किया और जनसुनवाई की बात करते हुए विधायक से कार्रवाई के बारे में पूछा। इसके बाद उसने  गालियां देना शुरू कर दिया। यह पूरी घटना सात मार्च की बताई जा रही है। दो दिन से इसका ऑडियो वायरल हो रहा है।

कांग्रेस विधायक ने एसएचओ को दी थी गालिंया 
बता दें कि इससे पहले चार मार्च को कांग्रेस विधायक राजेंद्र सिंह बिधूड़ी ने भैंसरोगढ़ थाना अधिकारी (एसएचओ ) संजय गुर्जर के साथ जमकर गाली-गालौज किया था। एसएचओ ने एक केस में उनकी मर्जी की धारा जोड़ने से मना किया तो विधायक गुस्सा गए थे। उन्होंने उसे बर्खास्त कराने की धमकी दी, और पूछा था कि तू सरकार का काम करेगा या नहीं… मैं कहा रहा हूं… तू मेरी बात नहीं मानेगा… ऑडियो में एसएचओ बार-बार गाली नहीं देने की गुजारिश कर रहा था।

विधायक हेमराज और संजय वधावा के केस का जिक्र कर रहे हैं थे, इस पर एसएचओ ने कहा कि जब कोई केस नहीं है तो धारा कैसे लगा दूं। एसएचओ की इस बात पर विधायक फिर नाराज हो जाते हैं और गाली देना शुरू कर देते हैं। आखिर में एसएचओ ने कहा कि मैं गालियां सुनने के लिए पुलिस में भर्ती नहीं हुआ हूं और कॉल काट देते दिया था। 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.