बड़ी तेल और गैस कंपनियों की बात करें तो रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध बढ़ने के बाद बीपी, शेल और एक्वानॉर ने अपनी गतिविधियों को समेटने की घोषणा की है।

gaurav bajpai

यूक्रेन पर हमले के विरोध में रूस के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध बढ़ते जा रहे हैं। कई दिनों से इस बात की चर्चा चल रही थी कि अमेरिका रूस से तेल, प्राकृतिक गैस और कोयले के आयात पर पाबंदी लगा सकता है, जिसपर बाइडन प्रशासन ने मुहर लगा दी है। ब्रिटेन ने भी इस साल के अंत तक चरणबद्ध तरीके से रूस से तेल और तेल उत्पादों का आयात खत्म करने की घोषणा की है। 

यूरोपीय संघ की भी बड़ी तैयारी
अमेरिका और ब्रिटेन के साथ ही यूरोपीय संघ भी इस साल के आखिर तक रूसी गैस पर अपनी दो तिहाई निर्भरता घटाने की तैयारी कर रहा हैं। गौरतलब है कि रूसी हमलों की मार झेल रहे यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने अमेरिका समेत पश्चिमी देशों से रूसी तेल आयात में कटौती का अनुरोध किया था। बड़ी तेल और गैस कंपनियों की बात करें तो रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध बढ़ने के बाद बीपी, शेल और एक्वानॉर ने अपनी गतिविधियों को समेटने की घोषणा की है। इसके साथ ही एक के बाद एक कई बड़ी कंपनियों ने रूस के खिलाफ प्रतिबंधों की बौछार सी कर दी है। 

अब इन कंपनियों ने रोकीं सेवाएं
गौरतलब है कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध का बुधवार को 14वां दिन है। अब तक एपल, गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, वॉल्वो, मर्सिडीज समेत कई नामी कंपनियों ने अपनी सेवाएं रूस में रोक दी हैं। अब सेवाएं बैन करने वाली इस सूची में मैक्डोनाल्ड पेप्सी, कोक और स्टारबक्स जैसे बड़े नाम भी जुड़ गए हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, मैक्डोनल्ड ने रूस में अपने 850 रेस्तरां बंद करने की घोषणा की है। पेप्सी, कोक और स्टारबक्स ने भी कड़े कदम उठाते हुए वहां से अपनी सभी सेवाओं को अस्थायी रूप से निलंबित करने का फैसला लिया है। 

मैकडॉनल्ड्स के अध्यक्ष ने ये कहा
मैकडॉनल्ड्स के अध्यक्ष और सीईओ क्रिस केम्पकिंस्की ने अपने कर्मचारियों को एक खुला पत्र लिखते हुए कहा कि हमारे मूल्यों का मतलब है कि हम यूक्रेन में सामने आने वाली अनावश्यक मानवीय पीड़ा को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। उन्होंने आगे कहा कि वह अस्थायी रूप से 850 स्टोर बंद कर देगी, लेकिन रूस में अपने 62,000 कर्मचारियों को भुगतान करना जारी रखेगी, जिन्होंने हमारे मैकडॉनल्ड्स ब्रांड में अपना दिल और आत्मा डाल दी है। केम्पकिंस्की ने कहा कि यह जानना असंभव है कि कंपनी अपने स्टोर को फिर से कब खोल पाएगी।

जानें कोक ने क्या कहा
कोका-कोला ने एक बयान में कहा कि हमारा दिल उन लोगों के साथ है जो यूक्रेन में इन दुखद घटनाओं के प्रभाव को झेल रहे हैं। मानवता की रक्षा में योगदान के लिए हम रूस में अपने कारोबार को अस्थायी रूप से निलंबित कर रहे हैं। हालांकि, कोक ने अपने कारोबार को  आंशिक रूप से बंद करने की घोषणा की। दरअसल, कोक के साझेदार, स्विट्जरलैंड स्थित कोका-कोला हेलेनिक बॉटलिंग कंपनी के पास रूस में 10 बॉटलिंग प्लांट हैं, जो इसका सबसे बड़ा बाजार है। कोका-कोला हेलेनिक बॉटलिंग कंपनी में कोक की 21 फीसदी हिस्सेदारी है। 

पेप्सिको-जनरल इलेक्ट्रिक ने रोकी सेवाएं
पेप्सिको और जनरल इलेक्ट्रिक दोनों ने अपने रूसी कारोबार को आंशिक रूप से बंद करने की घोषणा की। न्यूयॉर्क के परचेज में स्थित पेप्सी ने कहा कि वह रूस में पेय पदार्थों की बिक्री को निलंबित कर देगी। हमारी कंपनी किसी भी पूंजी निवेश और प्रचार गतिविधियों को भी रोकेगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.