कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने चित्रकूट के ऐतिहासिक मत्तगजेंद्र शिव मंदिर में पूजा, अर्चना कर लड़की हूँ लड़ सकती हूँ संवाद में महिला सम्मेलन में संबोधित किया

रिपोर्टर गौरव बाजपेयी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने चित्रकूट के ऐतिहासिक मत्तगजेंद्र शिव मंदिर में पूजन अर्चन कर लड़की हूँ लड़ सकती हूँ संवाद में महिला सम्मेलन में संबोधित किया

गांधी के सम्बोधन के कुछ प्रमुख अंश

◆ हर महिला अपने जीवन में संघर्ष करती है और लड़ती है यह हम सैकड़ों साल से देख रहे हैं अपने समय में रानी लक्ष्मीबाई जी अपने हक के लिए लड़की अपने देश के लिए लड़ी आज जब आप खेतों में काम करती हैं फैक्ट्री में काम करती हैं घर का काम करती है पाठशाला में पढ़ाती हैं
◆ आंगनबाड़ी की बहने आशा बहू हैं शिक्षामित्र बहने हैं डॉक्टर हैं नर्स हैं अधिवक्ता हैं आप सब एक तरीके से अपने लिए लड़ रही हैं और यह दिखा रही हैं कि आप मजबूत हैं आप कुछ करके दिखा सकते हैं आज प्रदेश की स्थिति बहुत खराब है

◆ कुछ दिनों पहले मैं ललितपुर गई थी मैंने सुना कि कुछ किसानों ने खाद की लाइन में लगे लगे लगे अपना दम तोड़ दिया कुछ किसानों ने आत्महत्या कर ली
किसान परिवार के घर गई उनके घर में कुछ भी नहीं था वह लाइन में इसलिए लगे कि अगर लाइन छूट जाएगी तो खाट नहीं मिलेगी आज नहीं मिलेगी तो खेत में फसल अच्छी नहीं होगी तो यही सब संघर्ष करते करते हैं उनकी मृत्यु हो गई जब मैं उनकी बेटी से मिली तो घर लौटते वक्त मैंने सोचा कि जो भी हो सबसे मुश्किल तुम महिला को ही होती है वह मां बेटी अकेले-अकेले क्या करेगी जो कम आने वाला था वह तो चला गया

◆ समाज में चाहे कोई भी समस्या हो उसका भोज महिला उठाती हैं आप ही सोचिए ढाई सौ रुपए किलो सरसों का तेल मिल रहा है हजार रुपए से ऊपर सिलेंडर मिल रहा है सरकार ने यह सोच रखा है की महिलाओं को कुछ तोहफे देकर महिलाओं के विवेक को पीछे कर देगी महिला जब आगे बढ़ती है तो उस तरह तरह की समस्याएं उसके सामने आती हैं अभी जो हमारी बहने बात कर रही थी उन लोगों ने बताया कि कितना संघर्ष किया यहां तक पहुंचने के लिए
यहां पानी की व्यवस्था नहीं है एक एक नल से 10 10 परिवार पानी ले रहे हैं उद्योगों का भाव है रोजगार का भाव है और उनके समय आप लोगों ने देखा कि यहां के प्रवासी परिवार कितना संघर्ष करके वापस आए लेकिन सरकार ने कोई मदद नहीं की ,सरकार ने उस समय कोई मदद नहीं की लेकिन 29 तारीख को मोदी जी भाषण देने आएंगे उसके लिए कल से ही बसे तैयार हो रही.

◆ आपके लिए कोई और संघर्ष करने नहीं आएगा यह लड़ाई हम बहनों को हम महिलाओं को खुद ही लड़नी होगी। महिला का संघर्ष उसका अपना संघर्ष होता है न, उसे अपनी शक्ति पहचानी होती है शक्ति के बल पर संघर्ष करना होता है। मैंने इसीलिए कहा कि 40% महिलाओं को राजनीति में आना चाहिए और इस विधानसभा चुनाव में रहते हैं जब तक महिलाएं आपकी तरह राजनीति में नहीं आएगी जब तक आगे नहीं बढ़ेंगे। जब तक आपके यहां से विधानसभा में महिला नहीं पहुंचेगी तब तक आपके दुख दर्द को जानने वाला कोई नहीं होगा आप के पक्ष में नीतियां बनाने वाला कोई नहीं होगा।
◆ एक महिला ही एक महिला का दर्द समझ सकती है उसके लिए नीतियां बना सकती है क्योंकि वह समझ सकती है कि महिलाएं कितना संघर्ष करती है . जब तक महिलाओं की राजनीति में आधी आबादी की आधी भागीदारी नहीं होगी तब तक महिलाओं को सम्मान और भागीदारी सुनिश्चित नहीं हो सकता.

सुनो द्रोपदी शस्त्र उठालो अब गोविंद ना आएंगे,कब तक आस लगाओगी तुम बिके हुए अखबारों से
कैसी सुरक्षा मांग रही हो दुशासन दरबारों से

मतलब यह है कि महिलाओं को अपने हक की लड़ाई खुद ही लड़नी होगी
सिर्फ अपनी मांग उठा रही थी अपनी आवाज उठा रही थी उसमें सिर्फ यह कहा कि मुझे क्यों गिरफ्तार कर रहे हो किस आधार पर मुझे उठा कर ले जाओगे इसी बात पर उसे इतनी बुरी तरह पीटा उसका हाथ टूट गया था उसका चेहरा एकदम सूजा हुआ था उसने यहां वहां हर जगह फोटो दिखाएं जब मेरे से बात कर रही थी तो वह बता रही थी । वह सिर्फ अपने मानदेय को बढ़ाने की आवाज उठा रहे हैं वह कह रहे थे कि इधर कुछ सालों से वह काम करने जाती भी है तो डिलीवरी के लिए उनको जो मिलता उनको मिलता है उससे भी अधिकारी उनसे ले लेते हैं यह
◆ भ्रष्टाचार की अवस्था है। अपने पीटने वालों से आप अपना हक मांगेंगे तो क्या हक मिलेगा मतलब इस भाजपा सरकार में आपको हक नहीं मिले आप डरिए मत ठहरिये मत हम आपके साथ हैं

◆ मैं यहां आप सब से इसलिए बात करने आई हूं मैं कहने आई हूं कि मन बना लीजिए आप आधी आबादी हैं हर 2 में से एक हैं,एकजुट होकर राजनीति में अपना हक मांगा जो सरकार आपके लिए कुछ कर ही नहीं रही है उसको आगे क्यों बढ़ा रहे हैं वोट देने के समय पर आंख बंद करके महिला को बोल दो बिल्कुल मत सोचो चुकी एक महिला ही आप के दर्द को समझ सकती आपके लिए खड़ी हो सकती है।
अगर इस बार 40% महिलाएं लड़ेंगे लड़ने से देश की राजनीति और समाज में बहुत बड़ा बदलाव आएगा महिलाएं सक्षम होगी

◆ यह जो शुरुआत की है हमने यह जो पहल की है सारे दलों को मजबूर होना पड़ेगा महिलाओं के हक को देना पड़ेगा यह आपके हक की लड़ाई है आप को एकजुट होना होगा

◆ जो छात्राएं बैठी हैं उनको मालूम है उनके लिए हमारी की क्या प्रतिक्रिया है ये स्मार्टफोन हम इसलिए आपको दे रहे हैं कि आप स्मार्ट पढ़ाई करें स्मार्ट महिला बनी और इस देश और समाज को आगे बढ़े आप मजबूत बने

◆.जो स्कूटी की प्रतिज्ञा है, इससे महिलाओं को दूर भी पढ़ाई के लिए जाना पड़े तो उन्हें कोई दिक्कत नहीं होती सरकारी बसों में महिलाओं के लिए यात्राएं फ्री होंगे कि वह कभी भी कहीं भी सुविधाजनक तरीके से जा सके

◆नौकरियों में हर आरक्षण के अंदर महिलाओं के लिए 40% आरक्षण अनिवार्य करेंगें

◆ विधवा पेंशन 1000 तक बढ़ाएंगे आंगनबाड़ी आशा बहनों के लिए ₹10000 मानदेय करेंगे न्यूनतम

◆ प्रदेश में हम हर जिले में 75 ऐसे पाठशाला बनाएंगे जो केंद्रीय विद्यालय की तर्ज पर खोले जाएंगे जो सिर्फ महिलाओं के लिए होंगे जिसमें पढ़ाई ही नहीं अलग-अलग हुनर भी सिखाए जाएंगे जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर बन सकें

◆ राजनीति में जो हिंसा है उसे खत्म करने के लिए महिलाओं की बहुत जरूरत है उनमें करुणा होती है वह सिर्फ अपने बच्चों का ध्यान नहीं रखते वह दूसरे बच्चों का भी ध्यान रखती हैं यह करुणा का जो भाव है यह सब की मदद करने का भाव है यह महिलाओं में ज्यादा होता है

◆ महिला सुरक्षा को लेकर कांग्रेस महत्वपूर्ण घोषणा करेगी, अभी विचार चल रही है कि–

◆ महिलाओं की शिकायत ना सुनने पर अधिकारी का 10 दिन में सस्पेंशन हो

◆ पर पुलिस स्टेशन में तीन चार महिलाएं को जो आज नहीं है

◆ पुलिस में एक चौथाई महिलाओं को नौकरियां मिलें

◆ प्रदेश में ऐसा कमीशन बने 6 महिलाओं का जो जो जज रही हो दोस्त सामाजिक कार्यकर्ता हूं जो ऐसी समस्याएं आ रही हैं कई बार पीड़िता के फल यार दर्द नहीं होता जिस पर उन्हें अध्यक्ष यार किया वह पीड़िता पर ही केस लगा रहा है ऐसे उल्टा शोषण के केसों में भी एक महिलाओं के लिए अलग से कमीशन बनाना चाहते हैं कि महिलाएं वहां शिकायत कर सकें

◆◆◆
महिलाएं ही राजनीति भी बदलेंगी देश भी बदलेगी,
धन्यवाद !!

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.