इण्डियन रेलवे टिकट चेकिंग स्टाफ आर्गनाइजेशन ने पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक से मांग की

रिपोर्ट-योगेश कुमार

गोरखपुर कोरोना से बचाव के लिए लोगों की दौड़ रेलवे के टिकट चेकिंग स्टाफ के लिए मुसीबत बन गई है। ट्रेनों व स्टेशनों पर रेलवे का टिकट चेकिंग स्टाफ सीधे यात्रियों के संपर्क में आता है।

इस वजह से रनिंग स्टाफ को भी कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ गया है। टिकट चेकिंग स्टाफ संक्रमण से बचने के लिए यात्रियों से दूरी बनाकर काम करने लगा है। जैसे-जैसे ट्रेनों की संख्या बढ़ा रहा है, वैसे-वैसे टिकट चेकिंग स्टाफ की ड्यूटी के दिन भी बढ़ते जा रहे हैं।

बीते दिनों दिल्ली, मुंबई लखनऊ सहित अन्य शहरों में बढ़े कोरोना के मामलों को देखते हुए टिकट चेकिंग स्टाफ में डर बैठ गया है। उन्हें लग रहा है कि यदि किसी यात्री में कोरोना के लक्षण हुए तो वह खुद को संक्रमित होंगे ही, उनका परिवार भी चपेट में आ सकता है।

अपने इस डर को वह सीनियर से जाहिर भी कर रहे हैं, इसी क्रम
ऑनलाइन गूगल मीट के माध्यम से इण्डियन रेलवे टिकट चेकिंग स्टाफ आर्गनाइजेशन ने मिटिंग का आयोजन किया
जोनल अध्यक्ष श्री शिवशंकर प्रसाद ने कहा की नहीं लगाया जा रहा

टीका रेलवे का स्वास्थ्य विभाग पूर्वोत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक (पीसीसीएम) का निर्देश भी नहीं मान रहा। उनके दिशा-निर्देश के बाद भी सभी उम्र वाले टिकट चेकिंग स्टाफ (टीटीई) को टीका नहीं लगा रहा।


महासचिव रितेश विशाल ने टिकट चेकिंग स्टाफ को इस कोविड प्रोटोकॉल में टिकट चेकिंग स्टाफ को कोई सुविधा नहीं मिलने पर दुःख व्यक्त किया। राष्ट्रीय संयुक्त सचिव श्री पवन कुमार राय ने पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक से मांग किया है

कि टिकट चेकिंग स्टाफ को इस समय सबसे पहले तत्काल वैक्सीनेशन कराया जाए, इसके बाद हमारे जो टिकट चेकिंग स्टाफ संक्रमित हो जा रहे हैं उनके लिए स्पेशल आकस्मिक अवकाश का प्राविधान भारतीय रेलवे प्रशासन द्वारा किया गया था लेकिन इस समय टिकट चेकिंग स्टाफ कोविड पाज़िटिव होने के बाद अपने अवकाश लेकर अपना इलाज करा रहे हैं और इसके बाद भी हमारे टिकट चेकिंग स्टाफ का रेलवे प्रशासन सहयोग नहीं कर रहा है

, इण्डियन रेलवे टिकट चेकिंग स्टाफ के संरक्षक ने बताया कि सबसे दुःखद समाचार यह है कि आज पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर के सेन्ट्रल हास्पिटल ललित नारायण मिश्रा रेलवे चिकित्सालय में भी रेलवे के टिकट चेकिंग स्टाफ को वैक्सीनेशन नहीं हो पा रहा है

इस समय जिस चिकित्सालय में केवल रेलवे के कर्मचारियों का इलाज होता था उस चिकित्सालय में आज़ इस महामारी के समय में जब वैक्सीनेशन का समय आया तो बाहरी व्यक्तियों को वैक्सीनेशन कराया जाने लगा, श्री टी एन पाण्डेय ने महाप्रबंधक पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर से विनम्र अनुरोध किया

कि इस समय आयुक्त एवं जिलाधिकारी गोरखपुर से सहयोग लेकर टिकट चेकिंग स्टाफ को वैक्सीनेशन कराया जाए,इस मिटिग मे उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार राय, देशदीपक, राकेश कुमार पाण्डेय, नासिर अंसारी इत्यादि पदाधिकारियों ने इन लाइन अपना विचार व्यक्त किए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.