सी.एम.एस. में ऑनलाइन सम्पन्न हुआ पारिवारिक एकता सम्मेलन सामाजिक विकास में ‘परिवार’ की भूमिका सर्वाधिक महत्वपूर्ण-केश्वप्रसाद मौर्य

लखनऊ, 25 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) द्वारा आज ‘पारिवारिक एकता सम्मेलन’ का भव्य आॅनलाइन आयोजन सम्पन्न हुआ।

समारोह के मुख्य अतिथि केशव प्रसाद मौर्य, उप-मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश ने ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि समाज के उत्थान व विकास में ‘परिवार’ की सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका है।

परिवारिक एकता ही ‘विश्व एकता’ की धुरी है। उन्होंने कहा कि एकता, शान्ति, अमन-चैन, खुशहाली सभी चाहते हैं, लेकिन इसकी शुरुआत होती है सामाजिक विकास की सबसे छोटी व सबसे महत्वपूर्ण इकाई परिवार से। यह बात हम सभी को पारिवारिक एकता के बलबूते ही समाज में एकता स्थापित हो सकती है।

केश्वप्रसाद मौर्य ने आगे कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास में भी पारिवारिक एकता का महत्वपूर्ण स्थान है। जब परिवार में सुख, शान्ति व एकता का वातावरण रहता है तो बालक का अपने आप ही सम्पूर्ण विकास होता है, उसमें आत्मविश्वास बढ़ता है और वह समाज के लिए एक गौरव बनता है।


इस ‘पारिवारिक एकता सम्मेलन’ में कई गणमान्य हस्तियों ने अपने सारगर्भित विचारों से भावी पीढ़ी को पारिवारिक एकता के महत्व से अवगत कराया। इस अवसर पर देश-विदेश के छात्रों के लिए आयोजित विभिन्न रोचक व ज्ञानवर्धक प्रतियोगिताओं के विजयी छात्रों को सम्मानित किया गया।

इस अन्तर्राष्ट्रीय पारिवारिक एकता महोत्सव के अन्तर्गत 3 से 18 वर्ष आयु के छात्रों बहुत ही रोचक व ज्ञानवर्धक प्रतियोगिताओं जैसे ली काॅस्ट्यूम डिग्वीज (फैन्सी ड्रेस कम्पटीशन), वेस्ट-ओ-मेनिया (माॅडल मेकिंग कम्पटीशन), लिनेज (फोटोग्राफी कम्पटीशन), कोलाइज (कोलाज कम्पटीशन) मोसिक्यू (गायन प्रतियोगिता) का आयोजन किया गया, जिसमें थाईलैण्ड, दुबई, श्रीलंका, रूस एवं भारत के विभिन्न राज्यों के छात्रों ने काफी बड़ी संख्या में प्रतिभाग किया तथापि विजयी छात्रों को आज सम्मानित किया गया।

इन प्रतियोगिताओं में विद्या भारती चिन्मय विद्यालय, झारखण्ड के छात्रों ने शानदार प्रदर्शन कर चैम्पियनशिप ट्राफी अपने नाम की जबकि आदर्श पब्लिक स्कूल, बालीनगर, नई दिल्ली के छात्र प्रथम रनर अप एवं सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) ने द्वितीय रनर-अप का खिताब अर्जित किया।


इससे पहले, ‘पारिवारिक एकता सम्मेलन’ के वर्चुअल उद्घाटन समारोह में शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की एक से बढ़कर एक शानदार प्रस्तुतियों ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। समारोह का शुभारम्भ स्कूल प्रार्थना, सर्वधर्म एवं विश्व एकता प्रार्थना से हुआ। पारिवारिक एकता व जीवन मूल्यों पर आधारित गीतों व नृत्यों की शानदार प्रस्तुतियों ने महोत्सव की गरिमा में चार-चाँद लगा दिये।


इस अवसर पर बोलते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. की स्थापना के समय से ही हमारा प्रयास रहा है कि छात्रों को भौतिक शिक्षा के साथ ही साथ सामाजिक, नैतिक व आध्यात्मिक शिक्षा भी मिले, जिससे हमारी भावी पीढ़ी भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हो सके।

सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने कहा कि परिवार, माता-पिता एवं शिक्षकों से जुड़कर ही विश्व परिवार की नींव रखी जा सकती है।

यदि परिवार सुदृढ़ होगा तो समाज और देश भी मज़बूत होगा और विश्व भी आगे बढ़ेगा। ‘पारिवारिक एकता सम्मेलन की संयोजिका एवं सी.एम.एस. राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या सुश्री पूनम अरोड़ा ने सम्मेलन की अपार सफलता हेतु देश-विदेश के सभी छात्रों, शिक्षकों व अभिभावकों का हार्दिक आभार व्यक्त किया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.